राजीव गांधी डिजिटल विद्यार्थी योजना – हिमाचल फ्री लैपटॉप सूची 2017

हिमाचल प्रदेश राजीव गांधी लैपटॉप योजना को शुरू करने की घोषणा भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दवारा की गई. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने सुंदरनगर में हुए एक प्रोग्राम में राजीव गांधी डिजिटल विद्यार्थी  योजना शुरू की. इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में शिक्षा के स्तर को बढ़ाना है.

इस योजना के अनुसार राज्य सरकार प्रदेश के बुद्धिमान छात्रों को करीब 10000 लैपटॉप देकर सम्मानित करेंगे. यह योजना दसवीं और बाहरवीं के छात्रों के लिए है. अधिकारियों के अनुसार इनमे से 5000 लैपटॉप दसवीं के छात्रों को दिए जाएगें और बाकी 5000 लैपटॉप बाहरवीं के छात्रों को दिए जाएगें.

इस योजना की जिम्मेवारी इलेक्ट्रॉनिक विकास निगम लिमिटेड को दी गई थी. यह टेंडर स्टेट इलेक्ट्रानिक डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड के शिमला मुख्यालय में खोला गया था.

राजीव गांधी डिजिटल लैपटॉप योजना की जानकारी

योजनाराजीव गांधी डिजिटल विद्यार्थी योजना
राज्यहिमाचल, राजस्थान
आवंटन करताHPBOSE
घोषणा करतावीरभद्र सिंह
वेबसाइटwww.hpbose.org
प्रतिवर्ष आवंटित लैपटॉप10,000 (5,ooo दसवींऔर 5,000 बाहरवीं के लिए)


सभी छात्र जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं वे राजीव गांधी फ्री लैपटॉप स्कीम लिए ऑनलाइन आवेदन जमा करवा सकते हैं. हिमाचल बोर्ड दवारा छात्रों को मेरिट लिस्ट और शैक्षिक रिकॉर्ड के आधार पर सेलेक्ट किया जाएगा. इस योजना के लिए चयनित छात्रों की सूचि हिमाचल प्रदेश विद्यालय शिक्षा बोर्ड की मुख्य वेबसाइट पर जारी की जाएगी.

सभी छात्र इस स्कीम के लिए आवेदन करने से पहले पात्रता की जाँच कर लें उसके बाद ही अपने आवेदन जमा करवाएं. इस योजना के दवारा लैपटॉप केवल उन्ही छात्रों को दिए जाएगें जो इसके पात्र होंगें.

राजीव गांधी डिजिटल फ्री लैपटॉप स्कीम 2017

पिछले वर्ष 29 जुलाई 2016 को लैपटॉप वितरण की तारीख तय की गई थी पर यह प्रोग्राम कुछ समस्याओं के कारण स्थगित कर दिया गया. इसके बाद शिक्षा बोर्ड ने 15 अप्रैल यानि हिमाचल दिवस पर लैपटॉप आवंटन का आयोजन करने का फैसला लिया.

एसर और एचपी सहित चार प्रमुख कंपनियों ने इस योजना के लिए राज्य इलेक्ट्रॉनिक डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड को वितरण के लिए अपने मॉडल प्रस्तुत किए. शिमला के विधायक श्री सुरेश भारद्वाज और राज्य के विपक्ष नेता पी.के. धुमाल द्वारा पुराने लैपटॉप मॉडल के वितरण का मुद्दा उठाने के बाद तकनीकी बोली शुरू की गई.

दोनों नेताओं ने दावा किया कि मेधावी छात्रों को पुराने मॉडल नहीं बल्कि अपडेटेड प्रोग्राम वाले नवीनतम लैपटॉप से सम्मानित करना चाहिए. इसके बाद स्कीम के बजट के अनुसार 10000 नवीनतम विनिर्देशों का टेंडर शुरू किया गया जिसमे दोनों नेताओं ने लैपटॉप की क्वालिटी और मॉडल का विशेष ध्यान रखा.


तकनीकी बोली के कार्यक्रम के बाद 29 जुलाई 2016 को लैपटॉप की खरीद के लिए उठाया गया, हालांकि इस प्रक्रिया में कुछ समय लगा. तकनीकी बोली में चार बड़ी कंपनियों के भाग लेने के बाद लैपटॉप खरीदने के लिए तुरंत बोली लगाई जानी थी. इस प्रक्रिया में सरकार को कुछ मुद्दों का सामना करना पड़ा जिस कारन इस योजना में देरी हुई.

राजीव गांधी लैपटॉप योजना के लिए HPBOSE मेरिट सूचि कैसे देखें

छात्र मेरिट लिस्ट से जुड़ी ताजा जानाकरी के लिए HPBOSE की वेबसाइट से जुड़े रहें. आप यहाँ दिए गए नियमों से अपनी मेरिट लिस्ट देख सकते हैं-

  • सबसे पहले HPBOSE की मुख्य वेबसाइट http://hpbose.org पर जाएँ.
  • उसके बाद ‘राजीव गांधी डिजिटल लैपटॉप योजना 2017’ के लिंक को खोलें.
  • अब सभी जरूरी जानकारी डालें और सबमिट करें.
  • ऐसा करने पर मेरिट लिस्ट आपके सामने होगी. आप इसका प्रिंट निकाल सकते हैं.

अब हिमाचल प्रदेश देश के स्वच्छ और विकशित राज्यों में है. प्रदेश में विकास कार्य तेजी पर है. राज्य सरकार लोगों की हित के लिए अनेक योजनाएं शुरू करती रहती है.

प्रदेश सरकार जल्दी ही दसवीं और बाहरवीं के उन छात्रों की सूचि जारी करेगी जिन्होंने शानदार ग्रेड प्राप्त किए हैं. मेरिट लिस्ट के आधार पर छात्रों को लैपटॉप से सम्मानित किया जाएगा.

यह योजना 2012-2013 में शुरू की गई जिसके बाद तत्कालीन बीजेपी सरकार ने भी फ्री लैपटॉप वितरण की घोषणा की है. राज्य में शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के लिए इस योजना की शुरवात की गई है.

Write Your Comment

Leave a Comment